तुझे प्यार होने लगा हें..!!!!!!!!!!!

तुझे प्यार होने लगा हें..!!!!!!!!!!!
मुझे देख तेरे गालो का रंग क्यूँ बदलने लगा है...!
तुझे भी शायेद धीरे-धीरे प्यार "विशाल" मुझसे होने लगा है...!!
कहें सखियाँ तेरी मेरा सुन तू होल से मुस्क़ुराती है...!
प्यार का पहला इशारा उनसे यूँ मुझे "विशाल" मिलने लगा है...!!
ये जो हल्का-हल्का-सा खुमार तुझ पे छाया है...!
तेरे इश्क़ की कहानी दुनिया को "विशाल" सुनाने लगा है...!!
मेरी गली से गुज़रे तो क्यूँ मेरे घर को ताकती...!
खोया इधर सब कुछ तुझे भी "विशाल" एहसास होने लगा है...!!
क्या करोगी सरे रहा कोई छेड़ देगा मेरे नाम से...!
संभाल खुद को, "विशाल" क्यूँ रुसवा जहाँ मे होने लगा है...!!
आप का अपना ---
----पंडित दयानन्द शास्त्री"विशाल"
Mob.----09024390067..

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

KNOW 400 FREE VASTU TIPS---- -जानिए निशुल्क/फ्री 400 वास्तु टिप्स/उपाय---

आइए जाने की क्या और क्यों होता हैं नाड़ी दोष ???

भक्ति और शक्ति का बेजोड़ संगम हैं पवन पुत्र हनुमान जी--