संदेश

April 28, 2013 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अक्षय तृतीया पर सफल दांपत्य जीवन के लिए करें यह उपाय -----

अक्षय तृतीया पर सफल दांपत्य जीवन के लिए करें यह उपाय -----

(शादी के दिन अपनी राशि अनुसार करें पूजन)----

अक्षय तृतीया हिन्दू धर्मानुसार (हिन्दी पंचांग) वैशाख शुक्ल पक्ष 3 तीज के दिन आती है। वैवाहिक मुहूर्त के हिसाब से यह एक ऐसी तिथि है, जिसमें बिना मुहूर्त के भी जातक की शादी इस दिन की जा सकती है। 

पंडित दयानन्द शास्त्री (मोब.--09024390067 ) के अनुसार  इस दिन जिनका विवाह है, वह जातक क्या करें या किस देवी-देवता का पूजन करें, ताकि उनके गृहस्थ जीवन में सुख, शांति व वैभव बना रहे। 
पंडित दयानन्द शास्त्री (मोब.--09024390067 ) के अनुसार आइए जा‍नते हैं : -----

मेष----- इस राशि वाले जातक भगवान गणेशजी के दर्शन करें एवं 'गं गणपतये नम:' की 9 माला करें।

वृषभ----- इस राशि वाले जातक कन्या का पूजन करें एवं दुर्गा चालीसा का पाठ करें।

मिथुन----- इस राशि वाले जातक शि‍वशक्ति की आराधना करें।

कर्क----- इस राशि वाले जातक गुरु के दर्शन करें एवं शिवाष्टक या शिव चालीसा करें।

सिंह------ इस राशि वाले जातक प्रात: सूर्य दर्शन करें एवं आदित्यह्रदयस्तोत्रम का पाठ करें।

कन्या------ इस राशि वाले जातक माताजी (दुर्गा) के दर…

इन उपायों / टोटकों द्वारा पायें अक्षय तृतीय पर सुख-वैभव-समृद्धि ----

चित्र
इन उपायों / टोटकों द्वारा पायें अक्षय तृतीया पर सुख-वैभव-समृद्धि ----

अक्षय तृतीया या आखा तीज वैशाख मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को कहते हैं। पौराणिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन जो भी शुभ कार्य किये जाते हैं, उनका अक्षय फल मिलता है। इसी कारण इसे अक्षय तृतीया कहा जाता है। वैसे तो सभी बारह महीनों की शुक्ल पक्षीय तृतीया शुभ होती है, किंतु वैशाख माह की तिथि स्वयंसिद्ध मुहूर्तो में मानी गई है। अक्षय तृतीया का शाब्दिक अर्थ है कि जिस तिथि का कभी क्षय न हो अथवा कभी नाश न हो, जो अविनाशी हो।अक्षय तृतीया का पर्व ग्रीष्म ऋतृ में पड़ता है, इसलिए इस पर्व पर ऐसी वस्तुओं का दान करना चाहिए। जो गर्मी में उपयोगी एंव राहत प्रदान करने वाली हो।

पंडित दयानन्द शास्त्री (मोब.--09024390067 ) के अनुसार अक्षय तृतीया पर कुंभ का पूजन व दान अक्षय फल प्रदान करता है। धर्मशास्त्र की मान्यता अनुसार यदि इस दिन नक्षत्र व योग का शुभ संयोग भी बन रहा हो तो इसके महत्व में और वृद्घि होती हैं। इस वर्ष रोहिणी नक्षत्र व सौभाग्य योग के साथ आ रही आखातीज पर दिया गया कुंभ का दान भाग्योदय कारक होगा।
इस दिन दान एंव उपवास करने हजार गुना…

शराब की लत /आदत छुडवाने का सरल / आसान तरीका ---

चित्र
शराब की लत /आदत छुडवाने का सरल / आसान तरीका --- ( शराब की लत /आदत फ़ौरन छूटेगी इस उपाय /टोटके द्वारा)
आजकल ज्यादातर महिलाएं इस बात को लेकर परेशान रहती है कि उनके पति अधिक शराब का सेवन करते हैं तथा अपने आय का अधिक हिस्सा शराब पर लुटाते हैं|  महिलाएं अपने पति की इस आदत को लेकर न जाने कितने जतन करती हैं लेकिन वह नाकाम ही साबित रहती हैं| वे हमेशा इसी प्रयास में लगी रहती हें किउनके पति की शराब की लत /आदत कब छूटेगी..??? किस तरह अपने घर का फालतू खर्चा बचाया जा सकें ..???
आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताने जा रहे हैं जिसके द्वारा आप अपने पति कि न केवल शराब ही छुड़ा पाएंगे बल्कि आपका जीवन "सुखी दाम्पत्य जीवन" बन जाएगा।
आपको बता दें कि जिस ब्रांड की शराब आपके पति ज्यादा पीते हैं ( आपके पति को जो भी दारू /शराब पसंद हो उस कंपनी की) उसी ब्रांड की शराब रविवार को शराब की दुकान से उसी ब्रांड की बोतल लाये, जो ब्रांड आपके पति सेवन करते हैं|
उसके बाद रविवार को उस बोतल को किसी भी भैरव मंदिर पर अर्पित करें तथा पुन: कुछ रूपए देकर मंदिर के पुजारी से वह बोतल वापिस घर ले आयें|
इसके बाद जब आपके पति शराब के नशे मे…

अपना भविष्य स्वयं जाने इस अनोखे तरीके /पद्धति द्वारा ---

चित्र
अपना भविष्य स्वयं जाने इस अनोखे तरीके /पद्धति द्वारा ---

"आप सभी जानते हें की हमारी भारतीय/हिंदी फिल्मों में आँखों  के ऊपर  अनेक  मधुर गीत/गाने लिखे गए .आखिर क्या और कोन हें इन आँखों में..???
आँखें दिल की जुबां होती हैं आज आपको आँखों के बारे में एक ऐसी विधि/ट्रिक/तरीका बताएँगे जिसके द्वारा आप स्वयं किसी का भविष्य जान सकते हैं| आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे संभव हो सकता है| जी यह संभव है ..!!!!

आइये जाने आँखों के द्वारा कैसे किसी का भविष्य जान सकते हैं...???

आपको बता दें कि आप किसी भी व्यक्ति की आँखों की पलकों को गौर से देखें और यह देखें कि वह व्यक्ति कितनी कितनी देर में पलक झपकाता   है| 

क्या और क्यों हें बाल विवाह एक बड़ी समस्या..????

क्या और क्यों हें बाल विवाह एक बड़ी समस्या..????

भारत देश का ये दुर्भाग्य हें की जिन लड़कियों /बच्चियों की गुडियों से खेलने की उम्र अभी गई नहीं। चाकलेट तो दूर लेमन चूस पर भी चहक उठती हैं यह। पर परंपरा कहें या माँ-बाप की उल्टी सोच, ये अभी उस विवाह बंधन में बांध दी गई जिनकी उन्हें समझ नहीं।भारत के लगभग सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में यह प्रथा बड़े आराम से ,बिना किसी रोकधाम के चलती आ रही हें..
देश में बाल विवाह के खिलाफ भले ही कानून बन गया हो, शादी के लिए वैध उम्र की सीमा भले ही तय कर दी गई हो, लेकिन ये सारे बंधन परिणय सूत्र में बंधने वालों के लिए बेमानी हैं। देश में बाल विवाह अभी भी धड़ल्ले से हो रहे हैं। 

तमाम प्रयासों के बाबजूद हमारे देश में बाल विवाह जैसी कुप्रथा का अंत नही हो पा रहा है |अभी हाल ही में आई यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है |रिपोर्ट के अनुसार देश में 47 फीसदी बालिकाओं की शादी 18 वर्ष से कम उम्र में कर दी जाती है | रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 22 फीसदी बालिकाएं 18 वर्ष से पहले ही माँ बन जाती हैं | यह रिपोर्ट हमारे सामाजिक जीवन के उस स्याह पहलू कि ओर…

आइये जाने की क्या हें अक्षय तृतीया/ आखातीज??? इसका महत्त्व एवं प्रभाव/लाभ..???

क्या और क्यों हें बाल विवाह एक बड़ी समस्या..????-
भारत देश का ये दुर्भाग्य हें की जिन लड़कियों /बच्चियों की गुडियों से खेलने की उम्र अभी गई नहीं। चाकलेट तो दूर लेमन चूस पर भी चहक उठती हैं यह। पर परंपरा कहें या माँ-बाप की उल्टी सोच, ये अभी उस विवाह बंधन में बांध दी गई जिनकी उन्हें समझ नहीं।भारत के लगभग सभी राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में यह प्रथा बड़े आराम से ,बिना किसी रोकधाम के चलती आ रही हें.. देश में बाल विवाह के खिलाफ भले ही कानून बन गया हो, शादी के लिए वैध उम्र की सीमा भले ही तय कर दी गई हो, लेकिन ये सारे बंधन परिणय सूत्र में बंधने वालों के लिए बेमानी हैं। देश में बाल विवाह अभी भी धड़ल्ले से हो रहे हैं। 
तमाम प्रयासों के बाबजूद हमारे देश में बाल विवाह जैसी कुप्रथा का अंत नही हो पा रहा है |अभी हाल ही में आई यूनिसेफ की एक रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है |रिपोर्ट के अनुसार देश में 47 फीसदी बालिकाओं की शादी 18 वर्ष से कम उम्र में कर दी जाती है | रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि 22 फीसदी बालिकाएं 18 वर्ष से पहले ही माँ बन जाती हैं | यह रिपोर्ट हमारे सामाजिक जीवन के उस स्याह पहलू कि ओ…