आइये जाने की वास्तु अनुसार घर में कोनसा वृक्ष (पेड़-पौधा) लगाना शुभ या अशुभ रहेगा ???

आइये जाने की वास्तु अनुसार घर में कोनसा वृक्ष (पेड़-पौधा) लगाना शुभ या अशुभ रहेगा ???
                                
प्रिय पाठकों / मित्रों, अक्सर मुझसे अनेक प्रश्न पूछते हैं जो की वास्तु सिद्धांत से अंजान होते हैं।।
                              
वे लोग पूछते हैं की शास्त्री जी जी वास्तु अनुसार घर में कोनसा वृक्ष (पेड़ ता पौधा) लगाना चाहिए जिसके कारण लाभ हो ??? उनके इस प्रश्न का उत्तर निम्नानुसार हैं --- 

मित्रों, कहते हैं घर में पेड़ लगाने से हरियाली आती है और घर में रहने वाले लोग हमेशा स्‍वस्‍थ्‍य रहते हैं। लेकिन कई बार आपके द्वारा लगाये गये पेड़ अच्‍छे परिणाम नहीं देते। घर में कौन सा पेड़ लगाना चाहिये और कौन सा नहीं और साथ में वृक्ष या पेड़ लगायें तो आखिर कहां लगायें ???
**** जानिए की वृहतसंहिता के अनुसार घर में कौन सा पेड़ किस दिशा में लगाया जाये तो, वह शुभ फल दें।               

**** तुलसी का पौधा----
तुलसी का पौधा घर में उत्तर, उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा में लगाया जाना चाहिए। इन दिशाओँ में तुलसी का पौधा घर में सकारात्मक ऊर्जा को प्रदान करता है।

**** बांस का पेड़----
वास्तु में बांस का पेड़ समृद्धि और तरक्की का प्रतीक होता है। धन और यश के लिए घर में कहीं भी लगा सकते हैं। इससे घर में मौजूद नकारात्मक उर्जा भी समाप्त होती है। आजकल बांस के पौधे को ‘बोना’ बनाने की विधि से छोटाकर, घर में रखने लायक बनाया जा रहा है। लेकिन कई वास्तुकार इसका विरोध भी करते हैं क्योकि इस विधि को प्रकृति के खिलाफ माना जाता है।

**** मनी प्लांट----
मनी प्लांट के पौधे को पूर्व या उत्तर दिशा में लगाना चाहिए। जैसे की इसके नाम से ही स्पष्ट है कि यह पौधा धन सम्बंधित सभी प्रकार के लाभ घर के लोगों को प्रदान करता है।

**** नारियल एवं अशोक का पेड़----
नारियल एवं अशोक का पेड़ घर के आँगन में लगाने चाहिए। खासकर अशोक का पेड़, शोक को दूर करने वाला और प्रसन्नता देने वाला वृक्ष है।

**** केले का पेड़----
ईशान कौण की दिशा में केले का पेड़ लगाया जाना शुभ बताया गया है। केले का पौधा वैसे वास्तु के साथ-साथ धार्मिक कारणों से भी महत्वपूर्ण बताया गया है।
गुरुवार के दिन भगवान विष्णु जी की पूजा के साथ-साथ केले के पेड़ को भी पूजा जाता है। वास्तु के अनुसार भी यह पेड़ घर में सुख-शान्ति प्रदान करता है।

**** नीम का पेड़---
घर में नीम का पेड़ सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाता है और घर से कई बीमारियों को भी दूर करता है। वास्तुशास्त्र के अनुसार नीम का पेड़ बहुत शुभ बताया गया है। वायव्य कोण में नीम का वृक्ष लगाना चाहिए।।

**** बरगद का वृक्ष पूर्व में, पश्चिम में पीपल, उत्तर में पिलखन एंव दक्षिण दिशा में गूलर का पेड़ लगाना शुभ माना जाता है।                         
**** यदि यही वृक्ष अगर विपरीत दिशाओं में हो तो, अशुभ फल देने लगते है। घर के समीप कांटेदार वृक्ष शत्रुभय उत्पन्न करते हैं एंव दूध वाले पेड़ धन का नाश करते है।

**** घर के समीप आम का पेड़ होने से सन्तान पर बुरा प्रभाव पड़ता है। यदि घर के समीप ऐसे पेड़ हो तो, उन्हे कटवा देना चाहिए अन्यथा इनके साथ-2 शुभ पेड़ लगाने चाहिए।

**** शुभ वृक्ष---- नाग केसर, अशोक, नीम, मौलश्री, कटहल और शाल, पुन्नाग, अनार, चमेली, जयन्ती, चन्दन, अपराजिता, महुआ, गुलाब, केतकी, चंपा, नारियल आदि वृक्ष शुभ माने जाते है।
**** वास्तुराजबल्लभ के अनुसार----    केला, केतकी, चमेली, गुलाब, चंपा ये वृक्ष घर के पास हो तो, शुभ माने गये है, परन्तु एक पहर बीतने के बाद इन वृक्षों की छाया पड़ने लगे तो इसे अशुभ मानते है। तीसरे पहर के बाद छाया पड़े तो, इतना अशुभ नहीं मानते है।


**** अशुभ वृक्ष ----पाकड़, गूलर, आम, नीम, पीपल, कैथ, इमली आदि वृक्षों की लकड़ी घर में नहीं लगाना चाहिए क्योंकि इसे अशुभ माना गया है।।।   
                                  
अब अंत में अगर रसोईघर की बात करें तो यहाँ वास्तु के अनुसार पुदीना, हरी मिर्च और धनिया जैसे छोटे पौधे लगाना शुभ बताया गया है। इन पौधों का वैज्ञानिक और वास्तु दोनों का अपना महत्त्व बताया गया है।

**** शुभम् भवतु।। कल्याण हो।।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

KNOW 400 FREE VASTU TIPS---- -जानिए निशुल्क/फ्री 400 वास्तु टिप्स/उपाय---

आइए जाने की क्या और क्यों होता हैं नाड़ी दोष ???

भक्ति और शक्ति का बेजोड़ संगम हैं पवन पुत्र हनुमान जी--